पहाड़ों में PM : मसूरी में मोदी ने बच्चों संग किया योग, घुड़सवारी भी की

देहरादून

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी दो दिनों के मसूरी दौरे पर हैं। कल मसूरी पहुंचने पर उनका जोरदार स्वागत हुआ। कल शाम उन्होंने हिमालय का नजारा देखा और आज उन्होंने सुबह उन्होंने केन्द्रीय विद्यालय के बच्चों के साथ योग किया। यही नहीं उन्होंने कैंपस में घुडसवारी का भी आनंद उठाया। अब 12 बजे से मोदी लाल बहादुर शास्त्री राष्ट्रीय प्रशासनिक अकादमी में प्रशिक्षु अधिकारियों को संबोधित करेंगे। 

उसके बाद सुबह 7 बजे प्रधानमंत्री मोदी हैप्पीवैली स्पोर्ट्स कांप्लेक्स और घुड़सवारी मैदान में घुमने के लिये गए। जहां कुछ देर बिताने के बाद प्रधानमंत्री घुड़सवारी मैदान के पास छोटे बच्चों के स्कूल पहुंचे। बताया जा रहा है कि यहां उन्होंने घुडसवारी भी की। उन्होंने संपूर्णानंद सभागार में नए हॉस्टल भवन और 200 मीटर के सिंथेटिक एथलेटिक्स ट्रैक की आधारशिला रखी।

गुरुवार दोपर को मोदी जौलीग्रांट एयरपोर्ट पहुंचे थे। जहां से वह 2 बजे वायुसेना के विशेष चॉपर से मसूरी के पोलो ग्राउंड पहुंचे। पोलो ग्राउंड में प्रोटोकॉल मंत्री धन सिंह रावत, एलबीएस अकादमी की निदेशक उपमा चौधरी, कमिश्नर दिलीप जावलकर ने फूल देकर उनका स्वागत किया। क्षेत्रीय विधायक गणेश जोशी, टिहरी सांसद माला राज्य लक्ष्मी शाह, पालिकाध्यक्ष मनमोहन सिंह मल्ल, पूर्व पालिकाध्यक्ष ओपी उनियाल, मंडलाध्यक्ष मोहन पेटवाल ने भी पीएम का स्वागत किया।

पूर्व पालिकाध्यक्ष ओपी उनियाल ने गणेश शैली की लिखी मसूरी मेडले पुस्तक पीएम मोदी को भेंट की। पोलो ग्राउंड हेलीपैड पर तिब्बती बैंड की धुन से प्रधानमंत्री का स्वागत किया गया। इसके बाद वह कार से 2:20 बजे एलबीएस अकादमी पहुंचे। उन्होंने करीब 2:50 बजे कालिंदी गेस्ट हाउस और सरदार पटेल सभागार में एकेडमिक काउंसिल के सदस्यों से वार्ता की। शाम को प्रधानमंत्री ने प्रशिक्षु अधिकारियों की ओर से आयोजित सांस्कृतिक कार्यक्रम इंद्रधनुष में भी शिरकत की।

लाल बहादुर शास्त्री और पटेल की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया

प्रधानमंत्री के आगमन के दौरान मसूरी में एलबीएस अकादमी मार्ग को तीन घंटे के लिए डायवर्ट किया गया। इस दौरान हैप्पीवैली क्षेत्र जीरो जोन रहा। पीएम का काफिला जैसे ही पोलो ग्राउंड से एलबीएस अकादमी की ओर निकला, पूरे मार्ग पर वाहनों को रोक दिया गया। इस दौरान प्रधानमंत्री ने भी हाथ हिलाकर लोगों का अभिवादन स्वीकार किया। प्रधानमंत्री ने सबसे पहले पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री और सरदार पटेल की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया। उसके बाद वह अकादमी के प्रशिक्षु आईएएस अधिकारियों से मिले। उन्होंने 92वें फाउंडेशन कोर्स के प्रशिक्षु अफसरों के साथ फोटो भी खिंचवाया।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *