अनिल राजभर ने अपना वायदा पूरा किया : होमगार्डों को 100 रूपए भत्ता बढक़र मिलेगा

  • 82 हजार होमगार्ड जवानों को भत्ते का फायदा मिलेगा
  • बिहार समेत दूसरे प्रदेश से कम भत्ता यहां मिलता है
  • 450 होमगार्ड मानव रहित रेलवे फाटक की निगरानी करेंगे
  • ब्यूरो

लखनऊ।

आखिरकार स्वतंत्र प्रभार, होमगार्ड मंत्री अनिल राजभर ने अपना वायदा पूरा कर दिया। शपथ ग्रहण के बाद उन्होंने पहली बार पहुंचे होमगार्ड मुख्यालय पर आयोजित कार्यक्रम में उन्होंने कहा था कि सरकार के सामने प्रस्ताव रखूंगा कि होमगार्डों का भत्ता बढ़ाया जाये ताकि उनके अंदर जोश भर सकें और उनका भरण-पोषण हो सके। सीएम योगी आदित्यनाथ ने मंत्री के जायज प्रस्ताव को हरी झंड़ी दे दी है। शीघ्र ही होमगार्डों को 100 रूपए बढक़र भत्ता मिलेगा। ये जीत मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की और मंत्री अनिल राजभर की है।

होमगार्ड मुख्यालय पर आयोजित प्रेसवार्ता में डी.जी.,होमगार्ड  डॉं सूर्य कुमार शुक्ला  ने बताया कि  अब होमगार्डों को 375 के बजाए 475 रुपए प्रतिदिन के हिसाब से भत्ता मिलेगा। प्रदेश के करीब 82 हजार होमगार्ड जवानों को इसका लाभ मिलेगा। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने होमगार्ड मंत्री व मुख्यालय द्वारा भेजे गए प्रस्ताव पर हामी भी भर ली है। शासन ने बजट मंजूरी के लिए फाइल वित्त विभाग को भेजी है।  13 दिसम्बर को प्रस्तावित होमगार्ड दिवस पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ होमगार्ड जवानों को बढ़ा हुआ भत्ता देने की घोषणा कर सकते हैं।

डीजी  ने बताया कि यूपी में होमगार्ड जवानों को बिहार से कम भत्ता मिल रहा है। बिहार में 400 रुपए भत्ता मिल रहा है। इसके अलावा मध्य प्रदेश में 669 रुपए प्रतिदिन, पंजाब में 29 हजार रुपए मासिक भत्ता समेत दूसरे प्रदेश में यहां से ज्यादा भत्ता दिया जा रहा है। इसी के मद्देनजर उन्होंने व विभागीय मंत्री अनिल राजभर के साथ भत्ता बढ़ाए जाने पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से वार्ता की गई। सीएम के निर्देश पर प्रस्ताव बनाकर भेजा गया।

 

पुलिस विभाग की तर्ज होमगार्ड विभाग में जीवन रक्षा निधि योजना शुरू करने पर विचार चल रहा है। इस योजना के तहत जवान अपनी इच्छी अनुसार अनुदान देंगे।  विभाग  प्रशंसा चिन्ह व शासन सराहनीय सेवाओं के लिए जवानों और अधिकारियों को होमगार्ड दिवस पर मेडल देगा। लखनऊ, रायबरेली, वाराणसी, सुलतानपुर समेत सात शहरों के मानव रहित रेलवे फाटकों की निगरानी में 450 होमगार्ड जवान लगेंगे। रेलवे ने होमगार्ड विभाग से मानव रहित रेलवे फाटकों की निगरानी के लिए होमगार्ड जवानों की मांग की थी। डीजी ने बताया कि पहले चरण में 450 जवानों की स्वीकृति दे दी है। दूसरे चरण में और जवान दिए जाएंगे। साथ ही 100 डायल की गाड़ियों को चलाने के लिए 750 होमगार्ड दिए जा रहे हैं।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *