मिशन 2019 की तैयारी- बीजेपी के लोग झूठ बोलते हैं और जातिवाद का जहर बोते हैं-राहुल गांधी

 

रायबरेली 

कांग्रेस अध्यक्ष बनने के बाद सोमवार को पहली बार अपने संसदीय क्षेत्र अमेठी पहुंचे राहुल गांधी ने मोदी-योगी पर तीखा हमला बोला। उन्होंने कहा कि, कांग्रेस की सरकार आने पर हम यहां फूड पार्क जरूर बनाएंगे। इससे हमें कोई रोक नहीं सकता। उन्होंने कहा कि, आज पूरे देश का किसान रो रहा है। उचित दाम नहीं मिलने पर किसान आलू सड़क पर फेंकने को मजबूर हैं। केंद्र की मोदी सरकार साढ़े तीन साल में विकास के हर मोर्चे पर फेल साबित हुई है। मोदी ने जनता से सिर्फ झूठे वायदे किए हैं। राहुल ने पीएम के स्वच्छता अभियान को भी आड़े हाथों लिया और सवाल उठाया कि क्या देश साफ-सुथरा हो गया। राहुल बोले, रायबरेली और अमेठी के साथ सौतेला व्यवहार किया जा रहा है।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी सोमवार को लखनऊ में अमौसी एयरपोर्ट पर विमान से उतरने के बाद अपनी मां सोनिया गांधी के संसदीय क्षेत्र रायबरेली होते हुए अमेठी संसदीय क्षेत्र के सलोन कस्बा पहुंचे। वहां नुक्कड़ सभा में राहुल पीएम नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर हमलावर रहे।

सभा को संबोधित करते हुए राहुल ने कहा कि, केंद्र सरकार के साढ़े तीन साल के कार्यकाल में जरा भी विकास नहीं हुआ। बताया कि, गुजरात के विधानसभा चुनाव में कैंपेन के दौरान वहां की जनता पूछ रही थी कि मोदी मॉडल क्या है? किसानों से जमीनें छीन ली गईं। बिजली-पानी की दिक्कत है तो उद्योग गायब हैं। राहुल गांधी ने कहा कि, मोदी सरकार 10-15 उद्योगपतियों के लिए काम कर रही है। यूपी में किसान सड़क पर आलू फेंक रहे हैं। तमिलनाडु, राजस्थान, केरल समेत अन्य प्रदेशों में भी किसानों की हालत खराब है। पूरे हिंदुस्तान का किसान रो रहा है।

राहुल ने कहा कि, हमारी सरकार अमेठी में फूड पार्क लाना चाहती थी। इससे किसानों का भला होता, मगर मोदी और उनके मंत्रियों ने फूड पार्क छीन लिया। कहा कि, हमारा मुकाबला चीन से है जहां 24 घंटे में 50 हजार युवाओं को रोजगार मिलता है, जबकि भारत में 24 घंटे में महज 450 युवाओं को ही रोजगार मिलता है।राहुल बोले, मोदी के मेक इन इंडिया का दावा खोखला है। चीन की सरकार एक दिन में जो कार्य करती है, उसे करने में मोदी को एक साल लग जाता है।

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि, काला धन देश में वापस नहीं आया। नोटबंदी कर जनता को लाइन में लगवा दिया। नोटबंदी के बाद गब्बर सिंह टैक्स (जीएसटी) भी व्यापारियों पर थोप दिया। स्वच्छ भारत अभियान से देश साफ-सुथरा नहीं हो पाया। किसानों का कर्ज माफ करने में भी साथ धोखा करते हैं, लेकिन उद्योगपतियों का कर्ज माफ करने के प्रयास जारी हैं।

राहुल बोले, यहां नेशनल पेपर मिल लगाना चाहते थे, मगर मोदी सरकार ने उसे भी कैंसिल कर दिया। यदि मिल लगती तो 10 हजार युवाओं को रोजगार मिलता। उन्होंने कहा कि, पीएम मोदी ने गुजरात में टाटा नैनो के प्रोजेक्ट लिए 35 हजार करोड़ रुपये लगा दिए, मगर जनहित के कार्य करने के लिए धन नहीं है।राहुल बोले, बीजेपी के लोग झूठ बोलते हैं और जातिवाद का जहर बोते हैं। कार्यकर्ताओं की जिम्मेदारी है कि वे जनता के बीच जाकर इन बातों की जानकारी दें, ताकि जनविरोधी सरकारों का सफाया हो सके।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *