विकास की रफ्तार होगी तेज, यूपी का अब महाराष्ट्र से मुकाबला -गोयल

लखनऊ

रेल मंत्री पीयूष गोयल ने कहा है कि अगले साल इलाहाबाद के संगम तट पर लगने वाले कुंभ में आने वाले यात्रियों की सुविधा के लिए रेल मंत्रालय द्वारा खास तैयारी की जा रही है। इसके लिए इलाहाबाद शहर में स्थित पांच रेलवे स्टेशनों को एक ‘काम्पलेक्स’ के तौर पर विकसित किया जाएगा ताकि सभी स्टेशनों पर आने वाले यात्रियों को एक समान सुविधाएं मुहैया कराई जा सकें। उन्होंने प्रदेश के विकास को लेकर योगी सरकार द्वारा किए जा रहे प्रयासों की सराहना करते हुए कहा कि रेलवे से संबंधित जो भी काम कराने होंगे वह कराएं जाएंगे।

 

यूपी इन्वेस्टर्स समिट में भाग लेने के बाद रेल मंत्री पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। समिट में उन्होंने रायबरेली की कोच फैक्ट्री की क्षमता बढ़ाए जाने का वादा किया और कहा कि अगले वर्ष से यहां 1000 कोच, उसके अगले वर्ष 2,000 कोच और उसके अगले वर्ष 3,000 कोच बनाए जाएंगे।

उन्होंने कहा जब से प्रदेश में सरकार बदली है, तब से कानून-व्यवस्था में अप्रत्याशित सुधार तो हुआ ही है, साथ ही निवेश के लिए प्रदेश में अच्छा माहौल भी बना है। इस वजह से प्रदेश के साथ ही केन्द्र सरकार की योजनाओं को भी गति मिलेगी। उन्होंने कहा कि इससे पहले कोई भी मुख्यमंत्री नोएडा जाना पसंद नही करता था, जबकि नोएडा एक ऐसा केन्द्र हैं, जहां से सबसे अधिक रोजगार के अवसर सृजित होते हैं। नोएडा जाकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उस सोच को बदला है। इससे वहां का समग्र विकास हो सकेगा।

रेल मंत्री ने कहा कि आने वाले समय में उत्तर प्रदेश विकास का इंजन बनेगा। निवेश को लेकर अब यूपी और महाराष्ट्र में कम्पटीशन होगा, क्योंकि यूपी में विकास की गति तेज होने जा रही है। उन्होंने यूपी के विकास में रेलवे की भूमिका की चर्चा करते हुए बताया कि वर्ष 2009 से 2014 के मात्र 5530 करोड़ रुपये का ही यूपी में काम हुआ था। जबकि 2014 से अब तक 26390 करोड़ रुपये या पांच गुना अधिक काम यूपी में कराया गया है। गोयल ने कहा कि इस वित्तीय वर्ष में यूपी में 410 किमी. नई रेलवे लाइने बिछाई गई हैं, जबकि 300 किमी. से अधिक लंबाई में रेलवे लाइनों का दोहरीकरण और 1350 किमी. लंबी रेलवे लाइनों का विद्युतीकरण कराया जा चुका है।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *