अखिलेश यादव का बड़ा बयान, कहा- गठबंधन का मकसद बीजेपी को हराना नहीं

गठबंधन को लेकर अमित शाह के बयान पर पलटवार

लखनऊ। यूपी में बीजेपी के लिए सपा बसपा गठबंधन सिरदर्द साबित हो रहा है। यह बात पार्टी के नेताओं द्वारा हाल ही में दिए बयानों से जाहिर होता है। बीजेपी के नेता इस गठबंधन को तोड़ने के लिए हर प्रकार प्रयास कर रहे हैं। लेकिन हर जगह पर उन्हें निराशा हाथ लगी वहीं देश की सबसे बड़ी राजनीतिक पार्टी बीजेपी के अध्यक्ष विरोधियों को घेरने के चक्कर में अपनी मर्यादा ही भूल गए। अमित शाह ने बीजेपी के स्थापना दिवस पर विपक्षियों की तुलना कुत्ती, कुत्ता, बिल्ली व अन्य जानवरों से से कर दी। वहीं सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव का दोनों पार्टियों के गठबंधन को लेकर बड़ा बयान सामने आया है। उन्होंने कहा कि गठबंधन का मकसद बीजेपी को हराना नहीं है। बल्कि यह मुद्दों पर आधारित और जनता को न्याय दिलाने के लिए है।

हाल ही में बीजेपी के 38 वें स्थापना दिवस पर राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह की सपा-बसपा के गठबंधन को लेकर बेचैनी सामने आयी। वह अपने बयान के दौरान सारी मर्यादा लांघ बैठे उन्होंने विपक्ष की तुलना जानवरों से कर डाली वहीं अमित शाह के इस बयान की खूब आलोचना हुई। इस मामले में शनिवार को लखनऊ में एक कार्यक्रम में सपा अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि सपा-बसपा गठबंधन से बीजेपी की भाषा बदल गई है। देश के सबसे बड़े दल में राजनीतिक शिष्टाचार शून्य है। उन्होंने कहा कि बीजेपी के पास जनता के बीच गिनाने के लिए कोई उपलब्धि नहीं है। शाह पर सीधा हमला बोलते हुए उन्होंने कहा कि बीजेपी के लोगों को स्वर्ग जाना है तो राम या कृष्ण का ही सहारा लेना पड़ेगा। यह गठबंधन किसी को हराने के लिए नहीं बल्कि मुद्दों पर आधारित और जनता को न्याय दिलाने के लिए है।

उन्होंने कहा कि बीजेपी सरकार ने जनता से किए वादे पूरे नहीं किए। कर्ज नहीं चुका पा रहे किसानों से रिकवरी की जा रही है। लेकिन जो लोग बैंकों का पैसा लूट कर ले गए उनका हिसाब तक नहीं दिया जा रहा है। आरक्षण पर अखिलेश ने कहा कि वे नफरत फैलाना नहीं चाहते। अगर संविधान ने कोई हक दिया है तो मिलना चाहिए। अखिलेश बोले, वैसे सरकार सभी जातियों के लोगों को आधार से लिंक करा दे, जिसकी जितनी संख्या है उसी के अनुरूप उन्हें हक मिलना चाहिए।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *