समीक्षा सिंह, दिव्यांशी सिंह,पम्मी सिंह के ऊंचे ख्वाब

समीक्षा सिंह, दिव्यांशी सिंह,पम्मी सिंह के ऊंचे ख्वाब
पत्रकार पिन्टू सिंह की बेटी ने दिव्यांशी ने किया नाम रौशन

रसड़ा,बलिया।

बेटिया हमारी शान हैं,सोनचिरैया हर मॉं-बाप की ख्वाब हैं…। बस इन्हें खुले आसमान में बिंदास होकर उडऩेकी आजादी मिले। इनकी भावनाओं की यदि कद्र की जाए और इन्हें बुलंदियों को छूने की हौसला अफजाई की जाए तो ये बेटियां किसी भी फतह को हासिल कर लेंगी। ये कारनामा बलिया के करीब रसड़ा जनपद की बेटियों ने कर दिखाया।उत्तर प्रदेश उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद की हाई स्कूल और इंटरमीडिएट की परीक्षा परिणाम से बेटियों के इस सफ लता पर जनपद व परिजनों सहित विद्यालय परिवार खुशी से आल्हादित है।

जनपद के सबसे बडे ब्लॅाक क्षेत्र नगरा के पांडेयपुर स्थित पं. श्रीनिवास इंटर कालेज की हाई स्कूल की छात्रा समीक्षा सिंह ने यूपी बोर्ड परीक्षा में 92.34 फ ीसद अंक लाकर जनपद में दूसरा स्थान प्राप्त किया है।

वहीं, रसड़ा तहसील क्षेत्र के लबकरा प्रधानपुर निवासी अरुण कुमार सिंह व सरिता सिंह की पुत्री समीक्षा ने नकल विहीन परीक्षा में इतनी कड़ाई के बावजूद अपने पढ़ाई के बदौलत 600 में 554 अंक प्राप्त विद्यालय सहित गांव जवार को गौरवान्वित किया है।

इसी कड़ी में रसड़ा तहसील क्षेत्र के मन्दा गांव निवासी पत्रकार पिंटू सिंह व मंजू सिंह की सुपुत्री दिव्यांशी सिंह ने यूपी बोर्ड द्वारा संचालित इंटरमीडिएट की परीक्षा में 77 प्रतिशत अंक पाकर यह जता दिया है कि बेटियां बेटों से किसी मामले में पीछे नही है। भगत सिंह इंटर कालेज, रसड़ा की छात्रा दिव्यांशी ने 500 में 388 अंक प्राप्त किया है।

 


दिव्यांशी ने अपनी सफ लता का श्रेय अमर शहीद भगत सिंह इण्टर कालेज के प्रधानाचार्य रामायण सिंह व माता श्रीमती मंजू सिंह को दिया है। बचपन से ही पढऩे में तेजतर्रार दिव्यांशी आगे चलकर चिकित्सक बनना चाहती है। उनका कहना है कि डॉक्टर बनकर गरीबों का मुफ्त में इलाज करूंगी।

कुछ इसी तरह की सोच इसारी सलेमपुर निवासी देवेंद्र सिंह की पुत्री पम्मी सिंह भी रखती हैं। पम्मी ने इंटरमीडिएट, कृषि वर्ग में 75.2 फीसदी अंक प्राप्त किया है। पम्मी सिंह जनता इंटर कालेज, नगरा में शिक्षा ग्रहण कर रही थी। बोर्ड परीक्षा का रिजल्ट आते ही पम्मी को बधाई देने वालो का तांता लग गया है।

अपने माँ- बाप को आदर्श मानने वाली पम्मी अपने सफ लता का श्रेय कालेज के अध्यापकों को दिया है। हाई स्कूल में जनपद में दूसरा स्थान प्राप्त करने वाली समीक्षा और पम्मी पढ़ लिखकर भरतीय प्रशासनिक सेवा में जाना चाहती हैं।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *