भीषण तपीश में इंसास राइफल की सख्त ट्रेनिंग ले जवानों ने पेश की मिसाल- डॉ. सूर्य शुक्ला

भीषण तपीश में इंसास राइफल की सख्त ट्रेनिंग ले जवानों ने पेश की मिसाल- डॉ. सूर्य शुक्ला

जवानों ने पेश की मिसाल,अफसरों ने अनुशासन की उड़ाई धज्जियां

दोनों अफसरों ने अनुशासन ही नहीं डीजी का किया अपमान

अरूण शर्मा
लखनऊ।

होमगार्ड विभाग के डीजी डॉ. सूर्य कुमार शुक्ला ने कहा कि 45 डिग्री तपीश में जहां लोग घरों से निकलने में हिचक रहे हैं,वहीं होमगार्ड विभाग के जवानों ने इंसास राइफल की सख्त ट्रेनिंग कर यह साबित कर दिया कि वे किसी से कम नहीं है। इसके लिए जवानों को जितनी बधाई दी जाए कम है। यही बात है जो हम सब पुलिस के बराबर होमगार्ड का समझते हैं। इस कार्यक्रम के दौरान होमगार्डों को प्रशस्ति पत्र दिया गया और विभाग के समस्त अधिकारियों ने उनका हौसला अफजाई भी की। चौंकाने वाली बात यह है कि इस कार्यक्रम की सूचना सभी अधिकारियों को पूर्व में दी जा चुकी थी उसके बावजूद सीनियर स्टॉफ अफसर सुनील कुमार एवं स्टॉफ अफसर, फस्र्ट बिना वर्दी शामिल हुए।


मुख्यालय स्थित सीटीआई में 14 मई से 13 दिनों की इंसास राइफ रिफ्रेशर प्रशिक्षण कोर्स खत्म होने के बाद आज डीजी ने सभी जवानों को प्रशस्ति पत्र दिया। इस दौरान जवानों ने डेमो कर अपनी जांबाजी का परिचय भी दिया।
जवानों को सम्बोधित करते हुए श्री शुक्ला ने कहा कि जवानों को ट्रेनिंग के दौरान ट्रेनिंग सेंटर में लजीज खाना देने एवं रहने की व्यवस्था बेहतरीन करने के लिए सीटीआई, कमांडेंट संजीव शुक्ला एवं उनकी टीम की भी सराहना करूंगा। जवानों ने बताया कि उन्हें ट्रेनिंग सेंटर में किसी प्रकार की असुविधा नहीं हुई और लजीज खाना मिला।

चौंकाने वाली बात यह है कि इस विभाग में जहां डीजी अनुशासन कायम रखने एवं भ्रष्टïचार खत्म करने की बातें करते रहते हैं वहीं अधिकारी उसे तोडऩे पर आमादा रहते हैं। ऐसा लगता है मानों वे डीजी के आदेश की धज्जियां उड़ाकर मजा लेते हैं। इस कार्यक्रम में भी कुछ इसी तरह का नजारा देखने को मिला। मंच पर बैठे लोगों में डीजी श्री शुक्ला,डीआईजी एस के सिंह,सीटीआई कमांडेंट जहां वर्दी की शान बढ़ा रहे थें वहीं सीनियर स्टॉफ अफसर सुनील कुमार एवं स्टॉफ अफसर, फस्र्ट सुभाष राम बिना वर्दी आसीन थें। ऐसा उनलोगों ने क्यों किया,इसका सही जवाब तो वे लोग ही जानें। कार्यक्रम में वित्त नियंत्रक विजय कुमार सिंह, अवर अभियंता सीटीआई उर्फ प्रशिक्षण प्रभारी गिरीश कुमार पाण्डेय भी मौजूद थें।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *