IPL 2018 Final: इन 11 होनहारों के साथ तीसरी बार चैंपियन बनने उतर सकते हैं ‘थाला धोनी’

चेन्नई सुपरकिंग्स ने दो साल के बाद आईपीएल में धमाकेदार वापसी की और फाइनल में प्रवेश किया। लीग स्टेज की शीर्ष दो टीमों सनराइजर्स हैदराबाद और चेन्नई सुपरकिंग्स के बीच रविवार को मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम पर हाईवोल्टेज फाइनल मुकाबला खेला जाएगा। चेन्नई ने पूरे टूर्नामेंट में अपनी धाक कायम रखी और वह तीसरी बार आईपीएल का खिताब जीतने से केवल एक कदम दूर है।मौजूदा आईपीएल में सनराइजेर्स हैदराबाद के खिलाफ ‘माही ब्रिगेड’ का प्रदर्शन बेहद शानदार रहा है और तीनों मौकों पर उसने ‘ऑरेंज आर्मी’ को मात दी है। चलिए गौर करते हैं कि फाइनल मैच के लिए ‘व्हिसल पोड’ किन 11 होनहार खिलाड़ियों के साथ मैदान संभाल सकती है:

शेन वॉटसन ने मौजूदा आईपीएल में कई शानदार पारियां खेली और अहम मौकों पर विकेट निकालकर अपने आप को बेहतर ऑलराउंडर साबित किया। हालांकि, पिछले कुछ मैचों में उनका बल्ला खामोश रहा, लेकिन फाइनल में वह एक बार फिर पुरानी लय हासिल करते हुए टीम को धमाकेदार शुरुआत दिलाने की कोशिश करेंगे। फाफ डू प्लेसी पिछले मैच के हीरो रहे। उन्होंने अकेले के दम पर चेन्नई को जीत दिलाकर फाइनल में एंट्री दिलाई। फाइनल में वह फिर से ओपनिंग करते हुए दिख सकते हैं और उन पर टीम को अच्छी स्थिति में पहुंचाने की बड़ी जिम्मेदारी होगी।

सुरेश रैना पिछले मैच में अच्छी शुरुआत को भुना नहीं सके। हालांकि, मौजूदा आईपीएल में उनका प्रदर्शन अच्छा रहा है। वह 500 रन के करीब बना चुके हैं। अब रैना की कोशिश एसआरएच के मजबूत गेंदबाजी आक्रमण की धज्जियां उड़ाकर चेन्नई को बड़े स्कोर तक पहुंचाने की होगी। अंबाती रायुडू मौजूदा सीजन में चेन्नई सुपरकिंग्स के सबसे सफल बल्लेबाज रहे हैं। वह अलग-अलग क्रम पर बल्लेबाजी करने में दक्ष रहे और चेन्नई को उनसे फाइनल में धमाकेदार प्रदर्शन की उम्मीद होगी।

एमएस धोनी इस सीजन में अपनी पुरानी लय में दिखे। उन्होंने विरोधी गेंदबाजों की जमकर धुनाई की और मैदान के चारों कोनों में शॉट्स घुमाए। धोनी की कप्तानी से तो सभी वाकिफ हैं। अब फाइनल में धोनी फिर कोई मास्टरस्ट्रोक खेलकर चेन्नई को तीसरी बार चैंपियन बनाने की कोशिश करेंगे।रविंद्र जडेजा की टूर्नामेंट में शुरुआत अच्छी नहीं रही, लेकिन अब वह अपनी लय में लौट चुके हैं। जडेजा ने गेंदबाजी में कमाल का प्रदर्शन किया है और वह नियमित अंतराल में विकेट निकालने में सफल हो रहे हैं। वह इसी लय को फाइनल में भी बरकरार रखने की कोशिश करेंगे।

ड्वेन ब्रावो अपनी गेंदबाजी में गजब का मिश्रण करके बल्लेबाजों को परेशान करते हैं। मगर इस सीजन में वह ज्यादा प्रभावी नहीं रहे हैं। बल्लेबाजों ने ब्रावो की खूब धुनाई की। अब फाइनल में ब्रावो अपने पुराने अंदाज में लौटने की कोशिश करेंगे और डेथ ओवर्स में विशेषकर बल्लेबाजों के लिए सिरदर्द बनना चाहेंगे।हरभजन सिंह ने पिछले कुछ मुकाबलों में उपयोगी योगदान नहीं दिया, लेकिन वह अंतिम एकादश के प्रमुख खिलाडियों में से एक रहे हैं। हरभजन को उम्मीद रहेगी कि फाइनल में उन्हें गेंदबाजी का मौका मिले और वह एक या दो विकेट निकालकर टीम को जीत दिलाएं।

दीपक चाहर नई गेंद के साथ खोज साबित हुए हैं। वह गेंद को दोनों दिशाओं में स्विंग कराना जानते हैं और उन्होंने शुरुआती 6 ओवरों के भीतर विकेट निकालकर भी दिया है। चाहर इसे फाइनल में भी बरक़रार रखने की कोशिश करेंगे ताकि विरोधी टीम को दबाव में रख सके।शार्दुल ठाकुर ने गेंद व बल्ले से अच्छा प्रदर्शन किया है। पहले क्वालीफायर में शार्दुल ने केवल 5 गेंदों में नाबाद 15 रन की पारी खेली थी और चेन्नई को फाइनल में पहुंचाया था। मौजूदा टूर्नामेंट में उन्होंने गेंद से भी अच्छा प्रदर्शन किया है और महत्वपूर्ण पलों में विकेट निकाले।लुंगी एनगिडी पिछले कुछ मैचों में चेन्नई सुपरकिंग्स के सबसे किफायती गेंदबाज साबित हुए। वह विकेट निकालने में सफल रहे और विरोधी टीम के रनरेट पर भी लगाम लगाई। वह एक बार फिर शानदार प्रदर्शन करके चेन्नई सुपरकिंग्स को चैंपियन बनाने की कोशिश करेंगे।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *