प्लेन में सफर कर रहे हैं, तो इन 10 बातों का रखें ख्याल

अक्सर किसी नई जगह सफर करने के दौरान लोगों को घबराहट होती है। ऐसें में यदि आपको यातायात के किसी नए माध्यम से सफर करना पड़े, तो यह घबराहट और बढ़ जाती है। वहीं कई बार ऐसा देखा गया है कि प्लेन से सफर करते समय अक्सर लोगों के दिल में एक अजीब सा डर बना रहता है। इसका एक कारण एयरपोर्ट पर होने वाली चेकिंग और अन्य कार्यवाहियां भी होती हैं। लोग अक्सर इतनी चेकिंग और दिशा निर्देशों के चलते भ्रमित हो जाते हैं। लेकिन कुछ छोटी-छोटी बातों का ध्यान रखने मात्र से आप इस समस्या से बच सकते हैं।

1. सबसे पहले आप इंटरनेट पर अपना फ्लाइट शेड्यूल चेक कर लें, ऐसें में डिपार्चर के समय में कोई बदलाव होने पर आप उसके लिए तैयार होंगे। साथ ही यह भी ध्यान दें कि फ्लाइट के शेड्यूल डिपार्चर से दो घंटा पहले एयरपोर्ट पहुंचना जरूरी होता है।

2. हवाई यात्रा करने से पहले ध्यान दें कि फ्लाइट टिकट का प्रिंट आउट जरूर साथ रखें। इसके अलावा ऑरिजिनल आई डी जैसे कि पासपोर्ट, पैन कार्ड, वोटर कार्ड भी जरूर लेकर चले। यदि आपके साथ कोई छोटा बच्चा भी है तो उसकी उम्र को प्रमाणित करने करने के लिए बर्थ सर्चिफिकेचट भी साथ रखें।

3. आप जिस भी एयरलाइंस की फ्लाइट से सफर कर रहे हो, उस एयरलाइंस के बैगेज रूल्स पहले ही जान लें और उसी के आधार पर अपना सामन पैक करें। आपको बता दें कि फ्लाइट में एक केबिन बैग (छोटा बैग) को आप अपने साथ रख सकते हैं। इसमें आप अपनी जरूरत की चीजें रखें, जिनकी जरूरत आपको फ्लाइट के दौरान पड़ सकती है। इसके अलावा बड़े चैक इन बैंग को एयरलाइन काउंटर पर जमा कराना होता है, जो यात्रा के बाद आपको उपलब्ध करा दिए जाते हैं।

4. हवाई यात्रा के दौरान ध्यान दें कि फ्लाइट में नुकीली चीजें यहां तक की नेलकटर तक ले जाने की अनुमति नहीं है। इसके अलावा किसी भी तरह का हथियार, लाइटर, ब्लेड, रेडियोएक्टिव चीजें और 100 एमएल से अधिक तरल पद्धार्थ नहीं ले सा सकते हैं।

5. एयरपोर्ट पर पहुंचने पर सबसे पहले आप जिस एयरलाइन का टिकट खरीदा हैं, उस एयरलाइन के काउंटर पर जाएं। यहां पर आपकी फ्लाइट की टिक्ट और आईडी चेक करने के बाद आपको बोर्डिंग पास दे दिया जाएगा। जिसका मतलब है कि अब आप फ्लाइट पर सफर करने के लिए तैयार हैं। इसी काउंटर पर आप चाहें तो विंडो सीट की डिमांड कर सकते हैं।

6. बोर्डिंग पास लेने के बाद सिक्योरिटी आपकी और आपके सामान की चेकिंग करेगी। यहीं पर आपके बोर्डिंग पास पर स्टाम्प लगा दी जाएगी। यहीं से आपको एंट्री गेट की जानाकरी दी जाएगी और सीट नंबर भी मिल दे दिया जाएगा।

7. ध्यान दें कि फ्लाइट टेकऑफ के आधे घण्टे पहले टर्मिनल गेट खोले जाते हैं। यहां दोबारा आपको बोर्डिंग पास और हैंडबेग चेक करवाना होगा. कई बार प्लेन टर्मिनल गेट से दूर खड़ा होता है। ऐसे में बस से प्लेन पर आपको ड्रॉप किया जाता है या प्लेन एरोब्रिज से जुड़ा होता है, तो आप डायरेक्ट एंट्री कर सकते है।

8. फ्लाइट में एंट्री करने के बाद एयरहोस्टेज आपका सीट नम्बर पूछकर आपको गाइड करेगी। सीट के ऊपर लगैज के लिए बनी जगह पर केबिन बैग रखें। टेकऑफ से पहले क्रू मेंबर जरूरी इंस्ट्रक्शन देंगे, उन्हें फॉलो करें और अब सीट बेल्ट लगाकर फ्लाइट के लिए रेडी हो जाएं।

9. अपने डिस्टिनेशन पर पहुंचने के बाद एयरपोर्ट पर लगे साइनबोडर्स को फॉलो करें और बैगेज काउंटर से बैग लें।

10. एयरपोर्ट परिसर या फ्लाइट में कुछ परेशानी होने पर घबराएं नहीं, वहां मौजूद ग्राउंड स्टाफ व अन्य कर्मचारियों से बेझिझक मदद मांगे।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *